728x90 AdSpace


  • Latest

    गुरुवार, 1 जून 2017

    यदि पति अपनी पत्नी को संतुष्ट नही कर पाता तो पत्नी भटक भी सकती है|


     कई बार लोगो ने कहा मासूम भाई सेक्स भी एक विषय है जिसपे बात होनी चाहिये | चलिये आज उस पे भी कुछ कहे देता हू |

    जौनपुर और आस पास के गाँव के युवा जवानी की दहलीज पे पैर रखते ही अपनी सेक्स की आवश्यकता पूरी करने के लिए इधर उधर भटकने लगते है । कभी किसी खिड़की और कभी किसी छत पे नजरे कुछ तलाशने लगती है । और यदि कोई जोड़ा मिला गया तो चोरी छुपे उस से मिलने जुलने लगते हैं जिसे आम भाषा में प्यार कह दिया जाता है जबकि अधिकतर मामलो में इसे वासना ही कहा जा सकता है । आज के अवसर वादी युग मे प्यार किसे कहा जाता है यह समझ पाना आसान नही | पेट और सेक्स की भूख शारीरिक जरूरत है और जो इन जरूरतो को पूरा करता है इन्सान उससे प्यार करने लगता है | इसलिये मै इस बात से सहमत नही की प्यार होने के बाद ही इन्सान सेक्स के लिये तैयार होता है बहुत बार बिना आपस मे प्यार हुये भी आपसी सहमती से सेक्स अपनी शारीरिक आवश्यकता को पुरी करने के लिये किया जाता है|



    भारतवर्ष मे अधिकतर शादिया माता पिता की सहमती से हो जाया करती है जिसमे लडके और लडकी के बीच प्यार नही होता लेकिन अधिकतर मामलो मे सुहागरात मे सेक्स बिना प्यार के ही हो जाया करता है लेकिन उसके बाद यदि पतिपत्नी एक दुसरे के शारीरिक सुख का ध्यान रखते है तो दोनो मे ऐसा प्यार होता है की जीवन भर नही खत्म नही होता और अगर कोई जोडा केवळ अपनी शारीरिक आवश्यकता का ध्यान रखता है तो जीवन मजबुरी और एक बोझ बन के रह जाता है | पति की शारीरिक आवश्यकता यदि पत्नी पूरी नही करती तो पति बाहर भटकने लगता है और यदि पति अपनी पत्नी को संतुष्ट नही कर पाता तो पत्नी भटक भी सकती है या समाज के डर से पुरी उम्र अपने पति द्वारा बलात्कार को सहती रहती है |


    गाँव में नौजवानो को शादी के पहले या बाद में भटकने के हालात में बाहर सेक्स का एक मात्र रास्ता हुआ करता है और वो है वैश्याओ के पास जाना जो जवानी की पहली सीढ़ी पे ही युवाओं  तरह तरह की बीमारियों में जकड देती है और असंतुष्ट पत्नी तो अनैच्छिक सेक्स को पत्नी धर्म समझ के निभाती जाती है और सारी उम्र पति द्वारा बलात्कार की शिकार होती रहती है ।

     आज इस बात की आवश्यकता है की गाँव में नौजवानो को शादी और सेक्स की सही जानकारी दी जाय और महिलाओं को उनके अधिकार  के बारे में जागरूक किया जाय जिस से वो खुद ही शादी के पहले और शादी के बाद जैसी समस्याओं का हल तलाश सके ।


    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    0 comments:

    एक टिप्पणी भेजें

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: यदि पति अपनी पत्नी को संतुष्ट नही कर पाता तो पत्नी भटक भी सकती है| Rating: 5 Reviewed By: S.M.Masoom
    Scroll to Top