728x90 AdSpace


  • Latest

    सोमवार, 15 दिसंबर 2014

    जुल्म ढाना हमें नहीं आता मुहब्बत ही फरियाद है’-रामिश जौनपुरी

    जौनपुर। जनपद के खेतासराय क्षेत्र के भदेठी गांव में आल इण्डिया मुशायरा का आयोजन हुआ जिसका उद्घाटन सूबे के कैबिनेट मंत्री पारसनाथ यादव ने करते हुये कहा कि हमारे देश की संस्कृति, रीति-रिवाज, रहन-सहन आदि की दुनिया में अनोखी पहचान है। इसी क्रम में विशिष्ट अतिथि फैयाज अहमद ने कहा कि हमारी परम्परा में तमाम खूबियां हैं। बशर्ते इन्हें बिखेरने की जरूरत है। इस दौरान शायर अफजल मंगलौरी ने ‘गुनाहगार हूं दर पे अपने बुला लो’ व ‘ऐ खुदाई के रहबर मदिने के बाली’ सहित अन्य पंक्तियों के माध्यम से खुदा की अदालत का नजारा पेश किया। तत्पश्चात् इमरान प्रतापगढ़ी ने ‘मत जोड़ो आतंकवाद का नाम मदरसों से’ व ‘पाक को नापाक करो’ को पेश करके मदरसों के तालीम में आतंक के छाया को रोकने पर जोर दिया।

     रामिश जौनपुरी ने ‘जुल्म ढाना हमें नहीं आता मुहब्बत ही फरियाद है’ पेश किया तो रूखसार बलरामपुरी, शमां सुल्तानपुरी, अल्ताफ जिया, लता हया, राहत इन्दौरी, अनवर जलाल, मजहर आसिफ ने अपनी पेशगी से पूरी रात को रोशन कर दिया। कार्यक्रम का संचालन अनवर जलालपुरी ने किया। इस अवसर पर सपा राष्ट्रीय महा सचिव अरशद खान,नासिर जमाल, हाजी फैयाज, हाफिज इत्फाक,  तौकिर आजमी, इकरार अहमद, दीपक सिंह माण्टो, रमेश शुक्ल, धीरेन्द्र यादव सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे। अन्त में अन्सार अहमद के संयोजकत्व में आयोजित कार्यक्रम में आयोजक व युवा सपा नेता मो. जावेद सिद्दीकी ने समस्त अतिथियों व आगंतुकों के प्रति आभार व्यक्त किया।
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    0 comments:

    एक टिप्पणी भेजें

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: जुल्म ढाना हमें नहीं आता मुहब्बत ही फरियाद है’-रामिश जौनपुरी Rating: 5 Reviewed By: S.M.Masoom
    Scroll to Top