728x90 AdSpace


  • Latest

    सोमवार, 6 अगस्त 2018

    जौनपुर में गोमती नदी का बढ़ता जलस्तर चिंता का विषय |

     https://www.youtube.com/user/payameamn



     जौनपुर। लगातार हो रही बरसात की वजह से उफान पर आई गोमती को देखते हुए प्रशासन अलर्ट हो गया है। जिलाधिकारी अरविन्द मलप्पा बंगारी ने गोमती की निगरानी के लिए एडीएम व सिटी मजिस्ट्रेट को नामित किया है। सभी एसडीएम को  भी कटाव की जानकारी देने का निर्देश दिया गया है। तेज बरसात की वजह से
    गोमती का जलस्तर में 16 फिट ऊपर तक पहुंच गया है।


    हालांकि अभी भी यह खतरे के निशान से 12 फिट नीचे है। वर्ष 1980 में गोमती का जलस्तर 35 फिट पहुंचने
    पर नगर में आई बाढ़ से लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। उधर, पीली नदी का जलस्तर बढ़ने से बदलापुर क्षेत्र का रपटा पुल डूबने से 24 गांवों के लोगों का संपर्क पहले ही टूट चुका है।

     https://www.youtube.com/payameamn
     महज एक सप्ताह के भीतर जलस्तर आठ फिट से बढ़ते हुए 16 फिट पहुंचना आने वाले खतरे की आहट के रूप में देखा जा रहा है। शास्त्री पुल के निकट चकप्यारअली में रह रहे लोगों के घरों तक पानी पहुंच चुका है। यदि इसी तरह बरसात होती रही तो बलुआ घाट, गोकुलघाट, हनुमानघाट, जोगियापुर, मियांपुर  व नखास में रह
    रहे लोगों के घरों में पानी पहुंच जाएगा। पानी कम होने की बजाए बढ़ने से आस- पास के लोगों का डर भी बढ़ रहा है। ऐसे में डीएम ने बाढ़ नियंत्रण कमेटी का गठन कर दिया है। एडीएम व सिटी मजिस्ट्रेट नगर गोमती की स्थिति की जानकारी डीएम को मुहैया कराएंगे, जबकि सभी एसडीएम को भी अपने आस-पास के क्षेत्रों पर नजर रखने को कहा गया है। बारिश के साथ ही सई नदी का जलस्तर भी तेजी से बढ़ रहा है। 1960 में इसी तरह बारिश के दौरान सई नदी का जलस्तर बढ़ने से गई गांव जलमग्न हो गए थे।
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    0 comments:

    एक टिप्पणी भेजें

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: जौनपुर में गोमती नदी का बढ़ता जलस्तर चिंता का विषय | Rating: 5 Reviewed By: S.M.Masoom
    Scroll to Top