728x90 AdSpace


  • Latest

    सोमवार, 27 अक्तूबर 2014

    साइबर क्राइम का पर्दाफाश एक बड़ी कामयाबी |



    कास्टेबल ओमप्रकाश जायसवाल ने सर्च किया इस गिरोह का कारनामा :एसपी बबलू कुमार 

     जौनपुर। साईबर क्राईम टीम ने एटीएम कार्ड का पिन नम्बर चुराकर आन लाईन खरीददारी करने वाले एक गिरोह का पर्दाफास करते हुए सरगना सहित  चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इन साईबर क्राईम करने वालो के पास तीन लैपटाॅप, पांच मल्टीमीडिया मोबाईल ,सिम कार्ड रजिस्टर और 2 माडम बरामद किया है। पुलिस के अनुसार ये लोग भोलीभाली जनता का एटीएम का गुप्त कोड और एटीएम नम्बर हासिल करके आन लाईन खरीददारी करते थे। इस अलावा ये लोग बैंक कस्टमरो के मोबाईल पर एकाउन्ट स्पायर होने की झूठी सूचना देकर एटीएम नम्बर और कोड की जानकारी लेकर भी आन लाईन खरीददारी करते है।


    पिछले कई महीनो से साईबर क्राईम का ग्राफ जौनपुर में तेजी से बढ़ गया था प्रतिदिन इस गिरोह के सदस्य किसी न किसी बैंक उपभोक्ता को अपना शिकार बनाकर उनके खाते से आन लाईन खरीददारी कर लेते थे। जब उपभोक्ता बैक जाकर शिकायत दर्ज कराता था तो बैक के अधिकारी कर्मचारी अपना पक्ष सही बताते हुए पल्ला झाड़ लेते थे। पुलिस भी इस क्राईम पर कोई ठोस कदम नही उठा पाती थी। प्रतिदिन हो रहे इस अपराध को रोकने के लिए एसपी जौनपुर ने एक साईबर क्राईम सेल की स्थापना किया। इस क्राईम सेल में इण्टरनेट के विशेषज्ञ कास्टेबल ओम प्रकाश जयसवाल तैनात किया और खुद इस सेल की मानिटरिगं करने लगे। ओमप्रकाश ने बारीकी से वेब साईट पर आन लाईन खरीददारी करने वाले और मोबाईल डीश रिचार्ज करने वालो को सर्च किया। इस सर्च में पता चला कि एक गिरोह ऐसा काम कर रहा है जो एटीएम से पैसा निकालते समय भोलीभाली उपभोक्ताओ का एटीएम नम्बर और गुप्त कोड चोरी से हासिल करके मोबिक किक ,फ्लिप कार्ड ,पेटीएम आदि नामो के वेब साईट पर फर्जी एकाउन्ट बनाकर आन लाईन पैसा कम्पनियों के एकाउन्ट में सेव कर लेते है।

    उसके बाद कम्पनियों द्वारा दी जाने वाली यूजर आईडी और पासवर्ड से बाजार में मोबाईल रिचार्ज के दुकानदारो को ज्यादा कमीशन का लालच देकर रिचार्ज करने कराने के लिए उपलब्ध कराते है। इसके बाद दुकानदारो द्वारा आन लाईन उपभोक्ताओं के मोबाईल और डिश रिचार्ज कराकर पैसा वसूल कर लेते है। इस की पुख्ता जानकारी होने के बाद एसपी ने क्राईम ब्रांच के अनिल कुमार सिंह, राजीव सिंह ,थानाध्यक्ष सुजानगंज राजेश कुमार को इस गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तारी करने का आदेश दिया। यह टीम ने आज अमित कुमार यादव पुत्र देवेन्द्र यादव निवासी सिहौली थाना केराकत सुशील कुमार यादव पुत्र सुमंत यादव निवासी मनिहरा थाना केराकत सुरेन्द्र कुमार गुप्ता पुत्र स्व0 महादेव निवासी बलवरगंज थाना सुजानगंज सुशील कुमार विश्वकर्मा निवासी विभनमऊ जलालपुर गिरफ्तार किया है। इस गिरोह का पर्दाफास करने वाली टीम को डीआईजी ने 15 हजार रूपये नगद इनाम दिया है।

    गिरफ्तार अभियुक्तो ने अपने आप को पाकसाफ बताते हुए कहा कि हम लोग मोबाईल रिजार्च करने की दुकान खोल रखा था जिसमे तीन से चार प्रतिशत कमिशन मिलता था जब से इस नेटवर्किगं के जरिये धंधा शुरू किया इसमें आठ प्रतिशत मुनाफा मिलता था।

    साइबर क्राइम से बचने हेतु निम्न बातो को ध्यान में रखना चाहिए-
     1. एटीएम कार्ड का प्रयोग करते समय एटीएम में अपने अलावा किसी को अन्दर न आने दे।
    2. फोन पर बैंक कर्मचारी बनकर एटीएम नंम्बर और पासवर्ड े या अपने खाते की किसी तरह की जानकारी न दे।
    3. प्रयोग के उपरान्त प्राप्त स्लीप को फाड कर नष्ट कर दे।
    4. प्रयोग के उपरान्त कार्ड को अवष्य चेक करें कि कार्ड अपना ही है किसी और का तो नहीं।
     बबलू कुमार पुलिस अधीक्षक, जौनपुर
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    0 comments:

    एक टिप्पणी भेजें

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: साइबर क्राइम का पर्दाफाश एक बड़ी कामयाबी | Rating: 5 Reviewed By: S.M.Masoom
    Scroll to Top