728x90 AdSpace


  • Latest

    मंगलवार, 18 जून 2019

    जौनपुर और बनारस में महमूद शाह शर्क़ी के नाम से बना रेशमी वस्त्र मशहूर था |

    जैसे जैसे जौनपुर के स्वर्णिम इतिहास पे नज़र डालते हैं वैसे वैसे नए नए रहस्यों से पर्दा उठता जाता है | शर्क़ी राज्य इब्राहिम शर्क़ी ने जीवन काम में बड़ा पहला फूला लेकिन जब महमूद शर्क़ी का दौर आया तो व्यापार बढ़ा और नए नए नक्काशीदार भवन वजूद में आये |  शायद इसका कारण था सुलतान महमूद शाह शर्क़ी की पत्नी बीबी राजे जो बेहद बुद्धिमान थी और राज काज में मामलों में उसका बड़ा दखल हुआ करता था | बीबी राजे के कारण  महमूद शर्क़ी को बनारस में भी रूचि होने लगी | 

     https://www.youtube.com/user/payameamnमहमूद शर्क़ी ने गुलाम अम्बिया को बनारस का हाकिम बनाया तो उसके वहाँ एक बाजार अपने नाम पे आबाद की जिसे अम्बिया बाजार के नाम से जाना जाता है और इसी के साथ साथ उसने एक नए क़िस्म का रेशमी कपड़ा तैयार करवाया जिसका नाम दिया महमूद शर्क़ी के नाम में "महमूदी रेशम " 

    इसी तरह महमूद शर्क़ी की पत्नी की एक सहेली थी जिसे बीबी राजे ने गुलबदन नाम दिया था जो बड़ी योग्य थी और उसी के नाम पे एक रेशमी वस्त्र बहुत मशहूर हुआ जिसका नाम था "गुलबदन रेशम " 

    इस प्रकार शर्क़ी राज्य में बहुत तरक़ी व्यापार में भी की गयी लेकिन आज जौनपुर अपनी  व्यापार की विरासत को भी ठीक से चला नहीं पा रहा है और असली  इत्र ,गुलकंद,चमेली का तेल , रेशमी वस्त्र सब अब इतिहास की किताबों तक ही सीमित रह गए हैं क्यों की इनकी बाजार में वो क़ीमत नहीं मिलती जितनी लागत  आती है और इसी कारण आने वाली नस्ल इन्हे बनाने के तरीके भी भूलती जा रहे हैं | 






     Chat With us on whatsapp
     Admin and Founder 
    S.M.Masoom
    Cont:9452060283
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    0 comments:

    एक टिप्पणी भेजें

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: जौनपुर और बनारस में महमूद शाह शर्क़ी के नाम से बना रेशमी वस्त्र मशहूर था | Rating: 5 Reviewed By: S.M.Masoom
    Scroll to Top