Breaking News

Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

Friday, April 25, 2014

जौनपुर शाही किले की सैर रविकिशन के साथ |

यही तो चुनाव का मज़ा है कि जिन्हें आप रुपहले परदे पे देखा करते थे आज आपके साथ बैठे मिलते हैं | भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार इस बार जौनपुर से कांग्रेस के प्रत्याशी हैं और हर संभव कोशिश कर रहे हैं इस बार चुनाव जीतने की |

आज की सुबह जौनपुर के लिए कुछ अलग थी क्यूँ की सुबह सुबह रविकिशन जी चाहारसू चौराहे पे चाय की दूकान पे बैठे अखबार पढ़ते मिले जैसे की पूरे जौनपुरिया हों | सुबह सुबह चाय की दूकान पे बैठ के देश दुनिया की भरें बताना , सुनना जौनपुरियों की पहचान हुआ करती है |


वहाँ से चाय के बाद चले शाही किले की सैर को जहां हर रोज़ सुबह सुबह शहर के  बड़े लोग जॉगिंग को आया करते हैं | यहाँ आस पास के लोग भी सुबह सुबह सैर को आते हैं क्यूँ की यह किला गोमती नदी के किनारे बसा है और सुबह का नज़ारा यहाँ देखने योग्य हुआ करता है |

ऐसा मौक़ा कहाँ बार बार आता है की रुपहले परदे का सुपरस्टार  साथ हो और वो भी शाही किले की सुनहरी सुबह के साथ  |

आप भी लें इस यादगार सैर का मज़ा |



Thursday, April 24, 2014

जौनपुर में राजनैतिक शक्ति प्रदर्शन ख़त्म और अब लगेंगे चौपाल |

जौनपुर में तीन दिनों तक चला नामांकन पत्र जमा करने  का और शक्ति प्रदर्शन का दौर | लेकिन अभी भी यह समझना मुश्किल है की इस भीड़ को वोट में बदलने की ताक़त किसके पास है | शायद जनता सभी जगह जाती है अपने नेताओं को सुनती है और फिर घर बैठ के जोड़ तोड़ करती है | यह जोड़ तोड़ कभी धर्म जाती पे आधारित होता है कभी देश हित या अपने जौनपुर के  हित को देखते  हुए होता  है तो कभी अपनी जान पहचान पे आधारित हुआ करता है | लेकिन आज मार्केटिंग का ज़माना है जिसकी जितनी हवा बनेगी उसका उतना ही फायदा होगा | वैसे जनता अब वायदों पे वोट कम किया करती है क्यूँ की उसने इन नेताओं द्वारा किये वायदों  को पूरा होते कभी नहीं देखा है |

यह बिचारी जनता केवल एक जगह मार खा जाती है जहाँ उसके अपने जोड़ तोड़ इलेक्शन का नतीजा आते ही बेकार हो जाते हैं और वो है गठबंधन की राजनीति | इलेक्शन से पहले जिसे बुरा भला कहते थे उसे के साथ मिल के सरकार बन जाया करती है और जनता बेचारी अपना धर्म अपनी जाति अपनी पाह्चान की तलाश करती रहती है जो इस गठ्मंधन की राजनीति के बीच कहीं खो जाता है |

जनता जब जब देश हित और अपने वतन के हित को देख के वोट करेगी तब तब उसका फायदा होगा यहाँ तक की गठबंधन की राजनीति भी उसे नुकसान नहीं पहुंचा सकती | जनता को यह समझ लेना चाहिए की यह राज नेता इतना सब कुछ सत्ता पाने के लिए करते हैं इसलिए आज की राजनीति में धर्म, जाति , जनजाति, इत्यादि का कोई मतलब नहीं रह जाता |













"खानकाह नुहागरन" और बड़ी मस्जिद " जामी उश शर्क" |

जौनपुर में अज़ादारी १३६० में फ़िरोज़ शाह तुगलक के समय से ही हो चुकी थी जहां से जौनपुर में अज़ाखाने बनना शुरू हुए |


बड़ी मस्जिद  " जामी  उश शर्क" 
फ़िरोज़ शाह तुगलक (1351-1388)  के जौनपुर बसाने के साथ ही यहाँ अज़ादारी भी शुरू हो गयी थी और उस दौर में बहुत से इमाम बाड़े भी यहाँ बनाए गए | जौनपुर में शिया ऐ अली का वजूद १४वीन सदी के पहले से मिलता है जब पहला शार्की सुलतान ख्वाजा जहां मालिक सर्वर का यहाँ आना हुआ | यह शार्की शिया ऐ अली थे | ref Husain, Muzaffar, 'History of Azadari of Muharram in Jaunpur, Allahabad, 1927, p. 9.


शार्की समय में अज़ादारी को बहुत आगे बढाया गया और शार्की शहजादे अज़ादारी पे ख़ास ध्यान दिया करते थे| उस समय अज़ादारी का मतलब होता था मर्सिया ख्वानी, नौहा , सोअज़ और जारी और ताजिया रखना | ताजिया मुहर्रम में किसी ख़ास जगह पे , चौक में या इमामबारगाह में रखा जाता था और फिर आशूर के रोज़ दफन  कर दिया जाता था |




कब्र इम्ब्रहीम शाह शार्की 

कब्र इम्ब्रहीम शाह शार्की 

जरी खानकाह नुहागरन 

खानकाह नुहागरन


खानकाह नुहागरन

इमामबाडा खानकाह नुहागरन


कब्र इम्ब्रहीम शाह शार्की 
सुल्तान इब्राहीम शाह शार्की (1400-1440)ने एक इमाम बड़ा बनवाया जिसे खानकाह नुहागरन का नाम दिया गया जो आज भी बड़ी मस्जिद से सटा हुआ बना है | यह इमामबाड़ा सुलतान इब्राहीम सुरी के कब्रिस्तान जहां वो खुद दफन हैं , से सटा हुआ है और पुराने समय में इब्राहीम शाह  शार्की  की वसीयत के मुताबिक  उसकी कब्र पे मुहर्रम में एक ताजिया रखा जाता था | जो आज इब्राहीम शाह की कब्र की जगह 8 और 9 मुहर्रम को  कब्रिस्तान के पास चौक पे ताजिया रखा जाता है और जुलुस सारे शहर का गश्त करता है जो शाही जुलूस के नाम से मशहूर है |


आज  ने एक बड़ी मस्जिद " जामी  उश शर्क" बनवाया जो वहाँ पहले से इब्राहीम शाह द्वारा बनवाये"  इमामबाडा खानकाह नुहागरन" को आगे बढाते हुए बनायी गयी | इस मस्जिद और इमामबाड़े से बहुत सालों तक बड़े जोरशोर से अज़ादारी हुआ करती थी और ताजिया निकाला जाता था लेकिन जौनपुर के ही एक मौलवी करामत अली की गलत हरकतों की वजह से ब्रिटिश सरकार ने वहाँ पे की जा रही अज़ादारी को बंद करवा दिया | ref: Beg, Mirza Abbas Ali, 'Jaunpurnama', (Urdu), Husaini Mission, Lucknow, 1987, p. 87.


अबकी बार निर्दलीय सरकार |

जौनपुर से निर्दलीय प्रत्याशियों की संख्या को देखे के तो दिल करता है नारा दे दिया जाए आपकी बार  निर्दलीय सरकार | इतने अधिक निर्दलीय चुनाव के नतीजे अवश्य बदल सकते हैं|

जी हाँ जौनपुर और मछलीशहर संसदीय सीट से 13 निर्दल प्रत्याशियों ने नामांकन किया। इसमें जौनपुर लोकसभा से सर्वाधिक आठ निर्दल उम्मीदवार शामिल हैं। जिसमें निवर्तमान सांसद धनंजय सिंह, पूर्व सांसद उमाकांत यादव, उनके पुत्र रविकांत, दीपचंद्र राम, जोगेंद्र प्रसाद, डा.सजीवन बिंद, विमल कुमार और जोगिश कुमार दुबे शामिल थे। वहीं मछलीशहर (सु) सीट से महज दिलीप राय समेत पांच उम्मीदवारों ने निर्दल प्रत्याशी के तौर पर नामांकन किया।



Wednesday, April 23, 2014

भाजपा प्रत्याशी केपी सिंह ने जमा किया नामांकन पत्र |


जौनपुर संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनावी ताल ठोंकने वाले डा. कृष्ण प्रताप सिंह ‘केपी’ ने बुधवार को हजारों की संख्या में उमड़ी समर्थकों की भीड़ के साथ कलेक्टेªट पहुंचकर नामांकन पत्र दाखिल किया। नगर के टाउन हाल के मैदान से निकले रोड शो में शामिल लोग ‘हर-हर मोदी’ के नारे लगा रहे थे जिससे पूरा माहौल गूंजायमान रहा। इसके पहले पार्टी के सभी पदाधिकारी, कार्यकर्ता सहित समर्थक टाउन हाल के मैदान पर एकत्रित हुये जहां से विशाल रोड शो के रूप में निकला जुलूस नगर के मुख्य मार्गों से होते हुये कलेक्टेªट पहुंचा। जुलूस का जहां रास्ते भर में जगह-जगह लोगों ने स्वागत किया, वहीं केसरिया अंगवस्त्रम्, कमल के फूल वाली टोपी एवं नरेन्द्र मोदी का मुखौटा लगाकर लोगों का चलना आकर्षण का केन्द्र बना रहा। चार पहिया, मोटरसाइकिल सहित पैदल चलने वाले लोगों की जुबान से बस एक ही नारा लग रहा था- ‘हर हर मोदी’। 

Tuesday, April 22, 2014

धनंजय सिह , रवि किशन और अन्य प्रत्याशियों ने भरा नामांकन परचा |

जौनपुर संसदीय सीट पर आज बसपा के बाहुबली सांसद धनंजय सिंह ने आज अपनी शक्ति का लोगो को अहसास कराते हुए एक विशाल जनसभा और जुलुस निकालकर अपना नामांकन दाखिल किया |



वही इसी सीट पर कांग्रेस पार्टी से प्रत्याशी व फिल्म अभिनेता रविकिशन नेहजारों जनसमूह के बीच बैण्ड-बाजा व पटाखों के साथ अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। धनंजय अपनी शक्ति का प्रदर्शन बीआरपी इण्टर कालेज के मैदान से लेकर कलेक्ट्रेट तक किया रविकिशन गोमती नदी के उस पार चहारसू चैराहे पर स्थित नगर चुनाव कार्यालय से निकले जुलूस में शामिल लोग गगनभेदी नारों के बीच गुलाब की पंखुडि़यां हवा में उड़ा रहे थे। भारी लाव-लश्कर के साथ नगर भ्रमण करते हुये कांग्रेस प्रत्याशी कलेट्रेट पहुंचे। दोनों प्रत्यासियो ने जौनपुर की तकदीर और तस्वीर बदलने की बात कही है। रविकिशन के नामांकन जुलुस में शामिल होने के लिए फिल्म अभिनेता व कांग्रेसी नेता राजब्बर और राज्यसभा सदस्य भी जौनपुर पहुंचे थे। जिला प्रशासन द्वारा उन्हें अनुमति नही मिलने के कारण वे रविकिशन के चुनाव कार्यालय तक ही सिमित रह गए। राजब्बर ने कहा कि मुसलमान केवल किसी का वोट बैंक नही रह गया है यह कौम काफी समझदार और पढ़ी लिखी है। उसे अपने पराये का अच्छी तरह से इल्म है।





 इसके आलावा प्रेमचन्द बिन्द प्रगतिशील मानव समाज पार्टी, अनुपति राम यादव बहुजन मुक्ति पार्टी, अरविन्द राजभर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, पूर्व सांसद उमाकान्त यादव, रविकान्त यादव निर्दल प्रत्याशी के रुप में अपना नामांकन पत्र जिलाधिकारी न्यायालय कक्ष में रिटर्निंग आफिसर सुहास एलवाई के समक्ष दाखिल किया जहां सहायक रिटर्निंग आफिसर ज्ञानेन्द्र सिंह भी उपस्थित रहे। इसी तरह 74-मछलीशहर (अ.जा.) लोकसभा से दयाराम भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, सिकन्दर बहुजन मुक्ति पार्टी, हरि सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, तूफानी निषाद भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, अनीता रावत भारतीय जनता पार्टी ने नामांकन अपर जिलाधिकारी न्यायालय में अपना नामांकन पत्र रिटर्निंग आफिसर राधेश्याम के समक्ष दाखिल किया जहां सहायक रिटर्निंग आफिसर विजय बहादुर सिंह भी उपस्थित रहे।

PAF सर्वे के मुताबिक़ एनडीए नीत गठबंधन को 283 सीटें |


पीपुल अवेयरनेस फोरम द्वारा कराये गए एक  सर्वे के मुताबिक़ एनडीए को पूर्ण बहुमत के आसार दिख  रहे हैं। किये गए  सर्वेक्षण  के आधार पर  प्राप्त  निष्कर्ष  से एनडीए नीत  गठबंधन  को 283  सीटें  मिल  रही है। सांख्यिकीविद प्रो एन के शर्मा ने सर्वे को मानको के अनुरूप एवं सटीक बताया है। हालांकि सैंपल साइज को लेकर सर्वे पर प्रश्न चिन्ह लगाए जा सकते है किन्तु  सैंपलिंग वृहत का एक लघु प्रतिनिधि ही होता है।  अब 16 मई को ही इस की सत्यता का पता चलेगा।

Survey  is  done by People Awareness Forum(PAF)


4.Question: Where you’ll cast/ casted your vote?
(a)    NDA ,  (b)   Others 

S #
States & Ut's
Toal PC's
Opinion NDA
Universe
1
ANDHRA PRADESH
42
20
300
2
ARUNACHAL PRADESH
2
1
30
3
ASSAM
14
5
100
4
BIHAR
40
25
300
5
CHHATTISHGARH
11
8
100
6
GOA
2
1
30
7
GUJARAT
26
21
200
8
HARYANA
10
8
100
9
HIMACHAL PRADESH
4
4
25
10
JAMMU & KASHMIR
6
1
50
11
JHARKHAND
14
8
100
12
KARNATAKA
28
12
225
13
KERLA
20
1
200
14
MADHYA PRADESH
29
26
250
15
MAHARASTRA
48
36
350
16
MANIPUR
2
0
30
17
MEGHALAYA
2
1
30
18
MIZORAM
1
0
30
19
NAGALAND
1
0
30
20
ORISHA
21
3
200
21
PUNJAB
13
8
100
22
RAJASTHAN
25
22
200
23
SIKKIM
1
0
30
24
TAMILNADU
39
8
300
25
TRIPURA
2
0
30
26
UTTAR PRADESH
80
49
500
27
UTTRAKHAND
5
5
50
28
WEST BENGAL
42
2
300
29
AND & NIC ISLANDS
1
1
30
30
CHANDIGARH
1
1
30
31
DADRA & NAGAR
1
0
30
32
DIM & DIU
1
0
30
33
DELHI
7
6
100
34
LAKSHADEEP
1
0
30
35
PUDDCHERRY
1
0
30
                         Total                        543             283                        4470
 1.Standard  Deviation 5% 
 2.Universe :Surey has been done on 4470 persons.
3.Sampling: Respondents are selected by random sampling method.


जौनपुर पर्यटन

चर्चित लेख

Gadgets By Spice Up Your Blog