Saturday, September 27, 2014

जिलाधिकारी की अपील -जौनपुर जिले के गरिमामय इतिहास को बनाये रखने में अपना अमूल्य सहयोग प्रदान करें ।

जौनपुर। जिलाधिकारी सुहास एल0वाई की अध्यक्षता में आज सायं कलेक्ट्रेट सभागार में नवरात्र/दशहरा/ बकरीद आदि त्योहारों को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए जिला शांति समिति की एक आवश्यक बैठक सम्पन्न हुई। शांति समिति के सदस्य जाफर अहमद जाफरी, अली मंजर डेजी, हाजी मो0 तौफीक, साजिद हमीद, कैलाशनाथ सम्पादक, योगी देवनाथ, डा0 शकील, पूर्व विधायक हाजी अफजाल, इन्द्रभान सिंह ‘इन्दू‘, लालजी यादव, शशांक सिंह रानू, बच्चा भइया, दीवानी बार के महामंत्री का0 जयप्रकाश सिंह, कलेक्टेªबार के अध्यक्ष उदय प्रताप सिंह, पूर्व अध्यक्ष यतीन्द्रनाथ त्रिपाठी, विजय प्रताप सिंह, बी0के0सिंह, संजय सिंह, शकील अहमद,शैल मौर्या,ए0ए0काजमीं आदि ने सड़क,पानी, विद्युत,आपूर्ति की समस्याओं को प्रमुखता से रखा तथा जिले में कल की दुर्घटना को सकुशल निपटाने के लिए जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक की सराहना किया। पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने जिला शांति समिति के सदस्या एवं नागरिकों से अपील किया कि ऐसी घटना घटने पर हमसब मिलकर उसे सुलझाने में मदद करें। जिले के शांति समिति के बहुत से सदस्यों ने कल की समस्या सुलझाने में मौके पर पहुंचकर विशेषरूप से सहयोग किया। न0पा0अध्यक्ष दिनेश टण्डन ने कहा कि हर साल से बेहतर व्यवस्था दी जायेगी।

जिलाधिकारी ने शांति समिति के सदस्यों से अपील किया कि जिले के गरिमामय इतिहास को बनाये रखने में अपना अमूल्य सहयोग प्रदान करें । समाज में अच्छाई एवं बुराई में हमेशा लड़ाई होती रहती है लेकिन हमेशा जीत अच्छाई की होती है। उन्होंने अपील किया कि नगर में पूर्णरूप से शांति हैं कानून से बड़ा कोई नही है, कानून का सबलोग सहयोग करें। सदस्यों द्वारा उठायी गयी समस्याओं के निदान के लिए संबंधित अधिकारियों को मौके पर तत्काल निराकरण का निर्देश दिया।

   इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी गंगाराम गुप्ता, अपर पुलिस अधीक्षक रामजी सिंह यादव, नगर मजिस्टेªट रामनरेश पाठक, ई0ओ0 न0पा0 संजय शुक्ला, डिप्टी कलेक्टर रिंकी जायसवाल, सभी उप जिलाधिकारी, क्षेत्राधिकारी आदि उपस्थित रहे।

Friday, September 26, 2014

जौनपुर की गंगा जमुनी तहजीब प्राचार्य की गिरफ़्तारी के बाद बिगड़ने से बची |


गंगा-जमुनी तहजीब के लिए विश्वविख्यात शिराज-ए-हिन्द की सरजमीं जौनपुर का आबो-हवा बिगाड़ने की कोशिश एक बार फिर नाकाम साबित हुई। समय रहते दोनों वर्गों के बुदिजीवियों ने पहल करके अपनी परम्परागत तहजीब को बचा लिया है। इस बार यहां का अमन-चैन बिगाड़ने का आरोप एक डिग्री कालेज के प्राचार्य समेत कई शैक्षणिक संस्थान के प्रबंधक के ऊपर लगा है। आरोप है कि इस प्रबंधक ने चैरा माता का पूजा-पाठ कर रही 4 महिलाओं को मारा-पीटा तथा विरोध करने पर पुजारी की जमकर धुनाई कर दिया जिसके कारण साधु को गम्भीर चोटें आयीं। उसे जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। यह बात नगर में फैलते ही आक्रोशित जनता सड़क पर उतरकर आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने और गिरफ्तारी की मांग शुरू कर दी। हालत यह हो गया कि मोहम्मद हसन कालेज से लेकर चहारसू चैराहे तक जाम लग गया।

 प्राचार्य अब्दुल कादिर और उनके गार्ड जीवन यादव को पुलिस ने गिरफ्तार करने बाद देर शाम प्रभारी सीजेएम शैलेन्द्र वर्मा की अदालत में पेश किया गया। सीजेएम ने न्यायायिक हिरासत मे लेकर जेल भेज दिया है।

जिलाधिकारी सुहास एलवाई एवं पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने संयुक्त रूप से बताया है कि जौनपुर शहर में पूर्णरूप से शांति है।उन्होंने नगरवासियों से अपील की है कि किसी प्रकार की अफवाह पर ध्यान न दें ,और अफवाह न फैलायें। अफवाह फैलाने वालों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी।

Thursday, September 25, 2014

जौनपुर के शाही महल और कोठियां -राजा जौनपुर का शाही महल |


जौनपुर के शाही महल और कोठियों की बात की जाए तो सबसे पहले बात राजा  जौनपुर के  शाही महल की होगी  जो आज भी शान से अटाला मस्जिद से थोड़ी दूर राजा  बाज़ार में अपनी शान बयान कर  रही है | इस कोठी के दो हिस्से हैं जिसमे  बाहरी महल और अंदर का परिवार वालों के रहने का इलाका है |

महल का अंदरूनी गेट 
जौनपुर रियासत की स्थापना तीन नवंबर १९९७ में शियो लाल दुबे जी ने की जो एक धनी बैंकर श्री मोती लाल दुबे के पुत्र थे | शिव लाल दुबे जी अमौली फतेहपुर के रहने वाले थे |१७९७ में उन्हें ताल्लुका बदलापुर “राजा बहादुर “ के खिताब के साथ मिला | उनकी म्रत्यु 90 वर्ष की आयु में सन १८३६ में हो गयी ,उस समय रायपुर राज्य आजमगढ़,बनारस,गोरखपुर,मिर्ज़ा पुर तक पहिल चुकी थी | राजा शिव लाल दत्त की म्रत्यु के बाद उनके पौत्र राजा राम गुलाम जी ने राज्य का काम काज संभाला जबकि उनके पिता राजा बाल दत्त जी अभी जिंदा थे |

राजा राम गुलाम जी की म्रत्यु सन १८४३ में हुई और उनके पिता राजा बाल दत्त ने राज्य की ज़िम्मेदारी संभल ली |रजा बाल दत्त के बाद उनके दुसरे पुत्र लछमन गुलाम राजा बने लेकिन उनकी कोई संतान न होने के कारण सन १८४५ में राजा बाल दत्त की पत्नी रानी तिलक कुंवर के साथ में राज पाट का काम आ गया |

१९१६ में राजा श्री कृष्ण दत्त १९४४ में राजा यद्वेंदर दत्त ने इसके देख भाल की और आज के दौर में १९९९ से राजा अवनींद्र दत्त इस राज्य की देख भाल कर रहे हैं |

क्या क्या मिला जौनपुर को इस बार मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आगमन पे |

पत्रकार जनाब राजेश श्रीवास्तव के कुछ इस तरह से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आगमन को लाइव टेलीकास्ट किया |

भारी दुव्यवस्था के बीच औसत से एक तिहाई कम जनता  के बीच आज सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज जौनपुर में मेडिकल कालेज का शिलान्यास किया। जो भीड़ थी वह मोहम्मद हसन पीजी कालेज इण्टर कालेज के छात्र -छात्राएं थी बाकी पार्टी नेता और कार्यकत्र्ता थे। मंच पर मौजूद कुछ नेता अपने आप को दिखाने के चक्कर में पद और गरिमा का भी ध्यान नही देते दिखाई पड़े।

 सबसे हास्यापद नजारा उस समय को देखने को मिला कि जब संचालक ने मुख्यमंत्री को पुष्पगुच्छ देने के लिए राज्यमंत्री जगदीश सोनकर का नाम पुकारा तो उनके बगल खड़े पूर्व सांसद तुफानी सरोज ने उस गुलदस्ते को लेकर अखिलेश यादव को भेट कर दिया। इस बाद तो सभी विधायक मंत्री बेगैर बुलाये गुलपोशी करने लगे। जिसके कारण संचालक माईक छोड़कर हट गया। जब नेताओं ने पुष्पगुच्छ भेट कर लिया तब संचालक माईक से एक बार फिर जगदीश सोनकर नाम पुकारा तब कही जाकर जगदीश ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। इतना ही नही इस सरकारी कार्यक्रम को राजनैतिक बनने की कोशिश किया गया। हुआ यू कि जब मुख्यमंत्री हेलीपैड से मंच की तरफ बढ़े तो मंच पर मौजूद पूर्व जिलाध्यक्ष राजबहादुर यादव और अवधनाथ पाल माईक पर आकर नारा लगाना चाह रहे थें लेकिन संचालक ने उन्हे नारा लगाने से रोक दिया ।

मुख्यमंत्री ने किया मेडिकल कालेज का शिलान्यास   

जौनपुर । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज जौनपुर में राजकीय मेडिकल कालेज सहित पांच परियोजनाओं का शिलान्यास किया। पूर्वाचंल विश्वविद्यालय के मैदान में आयोजित शिलान्यास कार्यक्रम को सम्बोद्यित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश की जनता के लिए चिकित्सा सुविधा मुहैया करने के लिए सरकार कटिबध्द है। इस सुविधा को जनता तक आसानी से पहुंचाने के लिए सरकार हर सम्भव प्रयास कर रहा हैं। जिसका परिणाम है कि आज जौनपुर में राजकीय मेडिकल कालेज की अधार शिला रख दी गयी है। यह कालेज 2017 विधान सभा चुनाव से पूर्व बनकर तैयार होकर पढ़ाई शुरू हो जायेगी। उन्होने कहा कि हमारी सरकार पूर्वाचंल के विकास के लिए काम शुरू कर दिया है। यहां कि बिजली सड़क पानी सहित अन्य सुविधाओं के लिए विशेष पैकेज के साथ ही पूर्वाचंल विकास निधि के फण्ड को बढ़ाया । जिससे पूर्वांचल भी नोयडा की तरह विकशित हो सकेगा ।

 इस मौके पर अखिलेश यादव ने ऐलान किया कि रिक्त पड़ी सारी सरकारी नौकरियों की भर्ती करके युवाओं को रोजगार दिया जायेगा।उन्होने प्रदेश की बदबत्तर हो चुकी बिजली व्यवस्था का ठीकरा केन्द्र सरकार पर फोड़ते हुए कहा कि चुनाव के समय यूपी में 24 घंटे बिजली देने का वादा करने वाली भाजपा आज हमारे प्रदेश को न तो बिजली दे रही है न ही कोयला । उन्होने आकड़ा देते हुए कहा कि यूपी को पांच हजार पांच सौ मेगावाट की जगह तीन हजार 425 मेगावाट बिजली मिल रही है। अखिलेश ने कहा बिजली सुविधा को सुधारने के लिए समाजवादी सरकार ने काम शुरू कर दिया है चुनाव से पहले यह समस्या दूर हो जायेगी।

अखिलेश यादव ने कहा की पूर्वांचल के विकास के हमारी सरकार कटिबद्ध इस लिए निधि को दुगुना किया  जायेगा 2017 तक जितने भी अधूरे काम है वे पुरे हो जायेगे पर होगा जो अच्छे दिन का वादा कर प्रदेश की जनता को बेवकूफ बना गए । उनसे सतर्क है|

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जिले को बी श्रेणी में शामिल किये जाने की मांग पर कहा कि समय आने पर बी श्रेणी में शामिल कर दिया जायेगा।

परियोजनाओं का शिलान्यास/लोकार्पण किया

उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम द्वारा जौनपुर में राजकीय मेडिकल कालेज का शिलान्यास 608 करोड़ रू0, जौनपुर 33/11 के.वी. विद्युत उप केन्द्र मई (गोरियापुर) का शिलान्यास 1.90 करोड़,
ग्राम बरपुर स्थित पीली नदी का पुल शिलान्यास 6.01 करोड़ रु0,
गोमती नदी पर बैजारामपुर घाट पर पुल का शिलान्यास 11.97 करोड़ रु0,

इसके साथ ही 09 परियोजनाओं का लोकार्पण भी माननीय मुख्यमंत्री ने किया जिसमे

राजकीय आश्रम पद्धति बालिका इन्टर कालेज गयासपुर सिरकोनी लागत 8.37 करोड रु0(राज्य जनान्तर्गत),
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सिकरारा मुख्य भवन 3.03 करोड़ रु0( जिला योजना) ,
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बक्शा मुख्य भवन 1.95 करोड़ रु0 (जिला योजना),
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खुटहन मुख्य भवन 1.97 करोड़ रु0 ( जिला योजना),
जिला महिला चिकित्सालय जौनपुर का उच्चीकरण 2.39 करोड़ रु0 (राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन ),
जिला चिकित्सालय जौनपुर का उच्चीकरण 3.66 करेाड़ रु0 (राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन ),
ट्रामा सेन्टर जौनपुर का निर्माण 1.13 करेाड़ रु0( राज्य योजना ),
औद्योगिक क्षेत्र सतहरिया मे अग्नि शमन केन्द्र का निर्माण 2.66 करोड़ (सीडा ),
भैसा पम्प नहर पर 33/0.4 के0 बी0 सब स्टैशन एवं स्वतंत्र फीडर लाइन का निर्माण 1.93 करोड़ रु0 (राष्ट्रीय कृषि विकास योजना),

घोषणा की जाने वाली परियोजनाओं मे बदलापुरखर्द से बलुआ मार्ग के बीच पीली नदी पर पुल एवं पहॅंच मार्ग का निर्माण अनुमानित लागत रु0 4.69 करेाड़ ,कस्तजूरीपुर-दुगौली कला मार्ग के बीच पीली नदी पर पुल एवं पहॅंच मार्ग रु0 4.99 करोड़ , दयालापुर-डेहुडा मार्ग के बीच पीली नदी पर पुल एवं पहॅंच मार्ग का निर्माण 3.58 करोड़ रु0 तीनो प्रस्ताव विधायक बदलापुर द्वारा प्रस्तावित किया गया है । शासकीय कार्य से भिन्न निजी क्षेत्र के कार्य का उद्घाटन सुशीला जैव उर्वरक कम्पनी (सुबिको) प्रा0लि0, धर्मा देवी महाविद्यालय बेलापार (हयातगंज) बक्शा जौनपुर का उद्घाटन मुख्यमंत्री द्वारा किया गया ।     

Tuesday, September 23, 2014

कैसे हो रही हैं माननीय मुख्यमंत्री के जौनपुर आगमन की तैयारिया |

२५ सितम्बर को माननीय मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जी  के जौनपुर आगमन की तैयारियां बहुत दिनों से चला रही हैं | पूर्वाचल विश्वविद्यालय के मैदान में जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके लिए जिला प्रशासन 345 फीट लंबा व 190 फीट चौड़ा वाटरप्रूफ पंडाल तैयार करवा रहा है। जहां 20 ब्लाक में एक लाख कुर्सियां लगाई जाएंगी।

जिलाधिकारी सुहासएल0वाई0 ने बताया  कि 25 सितम्बर 2014 को माननीय मुख्यमंत्री उ0प्र0 अखिलेश यादव का आर0टी0सी0 ग्राउण्ड पूर्वाचल विश्वविद्यालय जौनपुर में आगमन हो रहा है ।कार्यक्रम स्थल से 4 कि0मी0 की परिधि में तत्काल प्रभाव से धारा 144 लागू कर दी गई है । इस परिधि मे कोई भी व्यक्ति किसी प्रकार का घरना प्रदर्शन नही करेगा|

25 सितम्बर 2014 को माननीय मुख्यमंत्री उ0प्र0 अखिलेश यादव 9.30 बजे पूर्वान्ह लखनऊ से हेलीकाप्टर द्वारा प्रस्थान कर 10.25 बजे हेलीपैड पूर्वाचल विश्वविद्यालय पहुचेगे तथा 10.30 बजे से 11.30 बजे पूर्वान्ह तक मेडिकल कालेज एवं विकास योजनाओं का शिलान्यास एवं जनसभा आर0टी0सी0 ग्राउण्ड पूर्वाचल विश्वविद्यालय जौनपुर में करेगें । 11.30 बजे हेलीपैड पूर्वाचल विश्वविद्यालय जौनपुर से प्रस्थान कर 12.25 बजे लखनऊ पहुचेगे ।

कैबिनेट मंत्री पारसनाथ यादव, सपा जिलाध्यक्ष राज नरायन बिन्द, पूर्व सांसद तूफानी सरोज, युवा नेता लकी यादव के अलावा जिलाधिकारी सुहास एलवाई व आरक्षी अधीक्षक बबलू कुमार ने 25 सितम्बर को पूर्वांचल विश्वविद्यालय मुख्यमंत्री आगमन के दृष्टिकोण से सभी विधानसभाओं के लिये बड़े एवं छोटे वाहनों की पार्किंग व्यवस्था, सभास्थल पर सुरक्षा के दृष्टिकोण से पण्डाल व्यवस्था, हेलीपैड व जगह-जगह बैरियर लगाकर सघन जांच के बाद ही पैदल सभास्थल तक जाने की तैयारी की समीक्षा किया तथा सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी पीसी श्रीवास्तव, मुख्य राजस्व अधिकारी अरविन्द पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी गंगाराम गुप्ता, नगर मजिस्टेªट रामनरेश पाठक, जिला विकास अधिकारी तेज प्रताप मिश्र, अपर आरक्षी अधीक्षक देहात ओपी पाण्डेय, नगर रामजी सिंह यादव, उपजिलाधिकारी सदर ज्ञानेन्द्र सिंह, क्षेत्राधिकारी नगर अलका भटनागर, तहसीलदार सदर केएन तिवारी उपस्थित रहे।

 माननीय मुख्यमंत्री उ0प्र0 अखिलेश यादव के इस आगमन को काफी आशा की नज़रों से देखा जा रहा है ख़ास कर के बिजली व्यवस्था ठीक होने की योजना को लेके | अब देखना ये हैं की जौनपुर वालों की आशाओं को कितना पूरा कर पाते हैं  माननीय मुख्यमंत्री जी |

Monday, September 15, 2014

फेसबुक के आशिकों होशियार |

ये लगता सच है लेकिन हैं नहीं |
आज का युग सोशल मीडिया का युग है जहां लोग फेसबुक ,ट्विटर इत्यादि के उपयोग से अपने सप्रक बनाया करते हैं | फेसबुक ,ट्विटर एक खुला प्लेटफ़ॉर्म है जहां हर तरह के लोग अपना प्रोफाइल बनाए बैठे हैं जिनमे केवल सही नाम वाले होंगे ये मान के चलना बेवकूफी ही कही जायेगी | ना जाने कितने अनामी बेनामी प्रोफाइल लोगों ने बना रखें होंगे जिनकी पहचान करना आसान नहीं |

ऐसे में यह आवश्यकहुआ करता है कि जब भी आप नए दोस्त बनाएं या कोई रिक्वेस्ट आये तो उसकी जांच अवश्य कर लें और अगर ना भी कर सकें तो उसपे अधिक विश्वास ना करें | महिलाओं के लिए तो ख़ास तौर पे इन सोशल मीडिया का इस्तेमाल संभल के करना चाहिए |
जौनपुर जैसे छोटे शहरों में जहां सोशल मीडिया के बारे में जागरूकता की कमी है इसका इस्तेमाल धड़ल्ले से हर आयु के मिलाएं, पुरुष और नौजवान करते नज़र आते हैं | उन्हें चाहिए की इसके इस्तेमाल से पहले सावधानियो के बारे बारे में अवश्य जान लें |

कल एक खबर आज तक में पढ़ी कि रांची में फेसबुक के जरिए अमीर घरों के लड़कों को फांस कर ब्लैकमेलिंग करने का मामला सामने आया है|

पुलिस ने सदर थाना क्षेत्र के बरियातू इलाके में एक ऐसे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है, जिसमें शामिल लड़कियां फेसबुक पर अपना ग्लैमरस प्रोफाइल बनाती हैं और अमीरजादों को अपने चंगुल में फांसने का काम करती हैं. सेक्स के नाम पर उनसे मुंहमांगी रकम वसूला जाता है और अगर कोई पैसे देने में आनाकानी करे तो दर्ज हो जाता है रेप का केस |

 इसके इस्तेमाल से पहले ये अवश्य समझ लें की ये आभासी दुनिया है यहाँ जो दिखता है वो हकीकत में हो ये आवश्यक नहीं |

लेखक - एस एम् मासूम --संपादक और संचालक हमारा जौनपुर और जौंपुर्सिटी डॉट इन

Sunday, September 14, 2014

एनटीपीसी का लगेगा प्रोजेक्ट और बढेंगे रोज़गार के अवसर जौनपुर में |


जौनपुर। जनपद के विकास खण्ड बरसठी के दक्षिणी छोर पर स्थित कूसा पुल के पास वरूणा नदी के तट पर एनटीपीसी अपना प्रोजेक्ट लगाने के लिये भूमि के चयन हेतु रविवार से अपना सर्वे का कार्य शुरू कर दिया। इसी संदर्भ में आरके ग्रुप के डायरेक्टर राहुल बिन्द ने मौके पर जुटे ग्रामीणों को जानकारी दिया। इस मौके पर मौजूद पत्रकारों को श्री बिन्द ने बताया कि मडि़याहूं व भदोही के किसान भूमि देने को तैयार हुये तो फरवरी 2015 से जमीन अधिग्रहण की औपचारिकता पूरी कर प्रोजेक्ट बनाने का कार्य शुरू कर दिया जायेगा जिससे 2022 तक 330 गुणे 2 मेगावाट बिजली का उत्पादन शुरू हो जायेगा। भूमि अधिग्रहण सम्बन्धी शर्तों के बारे में पूछने पर परियोजना निदेशक ने बताया कि जिन किसानों की जमीन अधिग्रहित की जायेंगी, उन्हें सरकारी दर से 20 गुना ज्यादा कीमत तथा अगले 20 वर्ष तक उनके खेत की उपज का उचित कीमत अदा की जायेगी। इतना ही नहीं, प्रति परिवार से योग्यता के आधार पर एक व्यक्ति को नौकरी भी दी जायेगी।


एनटीपीसी के इस परियोजना में 56 प्रतिशत आरके ग्रुप थर्मल पावर प्रोजेक्ट का 40 प्रतिशत और बीसी तिवारी का 4 प्रतिशत शेयर वाली इस कम्पनी ने कोल थर्मल पावर लगाने के लिये कूसा गांव व भदोही के वरूणा नदी के बीचों-बीच दो किमी वर्गाकार जमीन मंे प्रोजेक्ट लगायेगी। कम्पनी के डायरेक्टर ने बताया कि यह प्रोजेक्ट कोयले से बिजली बनायेंगी और यहां प्रोजेक्ट लगने से दोनों जनपदों के लोगों को रोजगार मिलेगा। यदि किसी तरह की वैधानिक अड़ंगेबाजी प्रोजेक्ट में बाधा नहीं बनी तो आने वाले दिनों में मडि़याहूं तहसील के नाम बहुत बड़ी उपलब्धि होगी तथा क्षेत्रीय लोगों को सुचारू रूप से बिजली भी मिलना सुनिश्चित होगा। परियोजना निदेशक आरके बिन्द ने बताया कि इस प्रोजेक्ट का नाम एनटीपीसी मडि़याहूं के नाम होगा तथा कम्पनी का मुख्य द्वार दो जिलों की सीमा होने के बावजूद मडि़याहूं तहसील में ही होगा।

जौनपुर पर्यटन

चर्चित लेख

Gadgets By Spice Up Your Blog