728x90 AdSpace


  • Latest

    रविवार, 10 फ़रवरी 2019

    जौनपुर के लगभग ३०० वर्ष पुराने बाबा बारी नाथ का मंदिर का इतिहास ||

    जौनपुर के लगभग ३०० वर्ष पुराने बाबा बारी नाथ का मंदिर का इतिहास



    मुख्या द्वार मंदिर बाबा बारी नाथ |

     बाबा बारिनाथ का मंदिर इतिहासकारों के अनुसार लगभग ३०० वर्ष पुराना है | यह मंदिर उर्दू बाज़ार में स्थित है और इस दायरा कई बीघे में है | बाहर से देखने में आज यह उतना बड़ा मंदिर नहीं दीखता लेकिन प्रवेश द्वार से अन्दर जाने पे पता लगता है की यह कितना विशाल रहा होगा |

    अंदरूनी भाग  बाबा बारिनाथ का मंदिर 
    भीतर प्रवेश करने पे बायें हाथ पे पेड़ के नीचे बाबा बारिनाथ की संगमरमर की समाधी दर्शन करने वालों के लिए बनायी  गयी है जो देखने में बहुत ही सुंदर है लेकिन मूल समाधि अन्दर बनी एक कोठरी के अन्दर है |

    बाबा बारी नाथ की संगमरमर की समाधी 

    यहाँ शिव मंदिर, हनुमान मंदिर,काली मंदिर  और भैरव जी का मंदिर भी है | बाबा वर्षा नाथ की कुटीया एक तरफ है जिन्होंने ४३ वर्ष यहाँ समय गुज़ारा | यह मंदिर कन फटे बाबाओं की कड़ी समाधि के लिए भी मशहूर है जहां इनकी म्रत्यु के बाद इन्हें खड़े खड़े समाधी दे दी जाती थी |
    शिव मंदिर 


     Admin and Owner
    S.M.Masoom
    Cont:9452060283
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments
    Item Reviewed: जौनपुर के लगभग ३०० वर्ष पुराने बाबा बारी नाथ का मंदिर का इतिहास || Rating: 5 Reviewed By: S.M.Masoom
    Scroll to Top