728x90 AdSpace


  • Latest

    बुधवार, 19 अक्तूबर 2016

    जौनपुर का पिलखिनी गाँव शिक्षा के क्षेत्र बना एक मिसाल |

    जौनपुर  शिक्षा के क्षेत्र में शर्की शासनकाल से ही अग्रणी रहा है और आज भी आप यहाँ के पिलखिनी गांव में इस बात को महसूस कर सकते हैं ।  यहां के करीब दो किलोमीटर दूरी के परिधि वाले पिलखिनी गांव में प्राथमिक विद्यालय से लेकर डिग्री कालेज तक के 18 शिक्षण संस्थाए स्थापित। यह गांव जिला मुख्यालय से करीब 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और मेन रोड से तीन किलोमीटर अंदर है। यहां पर जहां नन्हे मुन्ने बच्चो को ककहरा सिखाया जाता है वही शिक्षक बनने की टेªनिगं भी दी जाती है। दूसरी तरफ युवाओ को रोजगार परख शिक्षा भी दी रही है।

     जौनपुर जिला मुख्यालय से करीब 20 किलोमीटर दूरी पर स्थित पिलखिनी गांव इन दिनों एजुकेशन का हब बन गया है। इस गांव में चार प्राथमिक विद्यालय, 3 जूनियर हाईस्कूल, दो डिग्री कालेज, 3 बीटीसी प्रशिक्षण संस्थान, दो बीएड कालेज, दो आईटीआई कालेज, और एक कान्वेंट स्कूल स्थापित है। इन विद्यालय में हजारो छात्र-छात्राएं शिक्षा लेकर अपना भविष्य सवार रहे है। इस गांव के निवासी एवं माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेशीय मंत्री रमेश सिंह ने शिराज़ ए हिन्द डॉट कॉम को बताया कि सन् दो हजार तक मात्र एक प्राथमिक विद्यालय ही था। जिसके कारण इस इलाके के छात्र-छात्राओं को पढ़ाई करने के लिए दूर दराज जाना पड़ता था। सन् दो हजार में यहां पर पहले एक डिग्री कालेज की स्थापना हुआ। उसके बाद एक एक करके कालेज स्थापित होना शुरू हुआ। आज यहां पर कुल 18 शिक्षण संस्थाए स्थापित है। सबसे खास बात यह कि जिस जमीनो पर यह शिक्षा का मंदिर स्थापित है यह पूरी तरह से उसर थी। इस जमीनो पर केवल धान की खेती होती थी। उसर बंजर जमीन पर आज शिक्षा की खेती हो रही है। शिक्षक ग्रामीण क्षेत्रो की प्रतिभाओ को तरासने का काम कर रहे है।
     15 वर्ष पूर्व तक इस इलाके के छात्र-छात्राएं दूर दराज जाकर तालिम लेने को मजबूर थे। आज इस गांव में जौनपुर के अलावा आजमगढ़ मऊ गाजीपुर समेत पूर्वाचंल के कई जनपदो युवा पढ़ने के लिए आते है। जिसमें छात्राओ की संख्या अधिक है। छात्रो का कहना है कि यहां पढ़ाई लिखाई गुणवक्ता युक्त होती है। और अनुशासन का पूरा ध्यान रखा जाता है।

    यहां के शिक्षको का दावा है कि हम लोगो की पूरी कोशिश होती है कि छात्रो को गुणवक्ता युक्त शिक्षा दिया जिसके कारण मेरे दो बैच के सभी छात्र-छात्राएं प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षक बन गये है।





     Admin and Owner
    S.M.Masoom
    Cont:9452060283
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    0 comments:

    एक टिप्पणी भेजें

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: जौनपुर का पिलखिनी गाँव शिक्षा के क्षेत्र बना एक मिसाल | Rating: 5 Reviewed By: एस एम् मासूम
    Scroll to Top