728x90 AdSpace


  • Latest

    सोमवार, 26 सितंबर 2016

    345 शिक्षकों को सम्मानित किया गया




    जौनपुर, 21 अक्टूबर, 2016: राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद् (SCERT) एवं स्टर एजुकेशन (STIR Education) के द्वारा मा.कांशीराम सामुदायिक भवन, जौनपुर में आयोजित कार्यक्रम में जौनपुर के नवाचारी शिक्षकों का सम्मान किया गया। इस आयोजन में जनपद के 10 विकास खंडों के 69 न्याय पंचायतों के 345 उन शिक्षकों को सम्मानित किया गया, जो बच्चों के अधिगम संप्राप्ति में सुधार हेतु प्रतिबद्ध हैं, अपने शिक्षण कौशल में सुधार लाना चाहते हैं तथा इसके लिए अभिनव नवाचारों को प्रयोग में लाते है। आज के कार्यक्रम में इन्हें “इन्नोवेटर” प्रमाणपत्र से सम्मानित किया गया। ये इन्नोवेटर्स लगभग 2500 शिक्षकों में से चुने गये है।
    इसके साथ ही इस समारोह में 345 शिक्षकों में से उन 69 शिक्षकों का भी सामूहिक मूल्यांकन विधि से चयन किया गया, जो लंदन के विश्व प्रसिद्द विश्वविद्यालय रोहेम्पटन यूनिवर्सिटी से प्रमाणपत्र पायेंगे। चयन प्रक्रिया के दौरान शिक्षकों ने अपने अपने नवाचार को चयनकर्ता शिक्षक समूह के बीच साझा किया, जिसके पश्चात् रेटिंग पद्धति का इस्तेमाल करते हुए उनके चयन को अंजाम दिया गया।  विदित हो कि रोहेम्पटन यूनिवर्सिटी लन्दन की एक विख्यात शिक्षण संस्थान है जो टीचर ट्रेनिंग के लिए विश्व स्तर पर जानी जाती है। स्टर एजुकेशन का इस यूनिवर्सिटी के साथ एक साझा समजौता हुआ है जिसके तहत यह उत्तर प्रदेश के नवाचारी शिक्षकों को इन्नोवेटर टीचर्स(INNOVATOR Teachers) के सम्मान से सम्मानित करेगी।
    यह आयोजन उत्तर प्रदेश के 5 जनपदों में आयोजित किया जाना है। इस सम्मान समारोह में उत्तर प्रदेश के फैज़ाबाद, उन्नाव, कानपूर नगर, जौनपुर, रायबरेली जनपद के के लगभग 1100 नवाचारी शिक्षकों का सम्मान किया जाएगा। ये शिक्षक 9000 शिक्षकों में चुने गये है, जिनमें से 220 शिक्षकों को रोहेम्पटन यूनिवर्सिटी द्वारा प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।

    सम्मानित शिक्षकों को समर्पित अपने सन्देश में स्टर एजुकेशन के राष्ट्रीय निदेशक(Country Director) श्री संदीप मिश्रा ने कहा कि हमारा देश सरकारी स्कूलों में बच्चों के नामांकन के लिहाज से दुनिया के तमाम देशों से बेहतर स्थिति में हैं। लगभग 95% बच्चे स्कूलों में नामांकित हैं जो एक सराहनीय स्थिति है। परन्तु बच्चों के अधिगम संप्राप्ति के संदर्भ में अभी बहुत कुछ किये जाने की संभावना है। बच्चों के शिक्षा की गुणवत्ता को प्रभावित करने वाले कारकों में शिक्षक की भूमिका अतुलनीय है ऐसा हमारा विश्वास  है। स्टर शिक्षक को शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने की दिशा में एक समाधान की तरह देखता है। हमारे कार्यक्रम के माध्यम से हमारा उद्देश्य शिक्षकों को उनके आतंरिक मूल्यों के माध्यम से स्वप्रेरित करना है, जिससे वो बच्चों के बौद्धिक स्तर को बेहतर बनाने की दिशा में एक सार्थक भूमिका का निर्वाह कर अपने आप को एक सुयोग्य शिक्षक के रूप में स्थापित कर सके।
    स्टर एजुकेशन द्वारा शिक्षकों के नेतृत्व में चलाये जा रहे वैश्विक मुहिम की जानकारी साझा करते हुए श्री मिश्रा ने कहा कि 2025 तक हमारा उद्देश्य दुनिया के ऐसे लगभग 10 लाख शिक्षकों की मुहिम का  निर्माण करना है जो उपने आप को एक सुयोग्य शिक्षक के रूप में स्थापित बाकी शिक्षकों के उदाहरण बन इस मुहिम को आगे ले जाने में सक्षम हो। भारत और यूगांडा में स्टर ऐसे लगभग 25000 प्रेरणादायी शिक्षकों के साथ कार्य कर रहा है जो इस सार्थक उद्देश्य के प्रति अपनी प्रतिबद्धता प्रदर्शित कर रहे हैं और अपने अपने विद्यालयों में टीचर चेंजमेकर नेटवर्क के जरिये सक्रीय है।
    इस अवसर पर जौनपुर के बेसिक शिक्षा अधिकारी श्री गजराज सिंह यादव, सम्बंधित विकास खण्डों के खण्ड शिक्षा अधिकारी, न्याय पंचायत प्रभारी, स्टर एजुकेशन  के एसोसिएट हेड, उत्तर प्रदेश आशीष कुमार शर्मा, जिला कार्यक्रम प्रबन्धक नरेंद्र वर्मा, कार्यक्रम प्रबन्धक आकांक्षा शर्मा व जयंत गुप्ता मौजूद रहे।
    उत्तर प्रदेश में SCERT उत्तर प्रदेश के अमूल्य निर्देशन में इस कार्यक्रम की शुरुआत 2014 में लखनऊ से हुई थी जो अभी 7 विभिन्न जनपदों में 12000 से अधिक शिक्षकों के साथ कार्यरत है l आज के कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य जनपद के विभिन्न न्यायपंचायतो से आये नवाचारी शिक्षकों को उनके प्रयासों के लिए सम्मानित करना हैं साथ ही प्रत्येक न्यायपंचायत से एक शिक्षक का चुनाव रोहेम्पटन विश्वविद्यालय, लंदन के प्रमाणपत्र के लिए करना हैं।
    STiR एजुकेशन टीचर चेंजमेकर मुहीम को विकसित कर रहा है, जहां देश के विभिन्न हिस्सों से शिक्षक साथ मिलकर काम करने के लिए स्थानीय नेटवर्क बना रहे हैं, जिससे वे बच्चों को पढ़ाने से जुड़ी अभिनव नवाचारों को विकसित कर सकें। साथ ही शिक्षण के दौरान आनेवाली चुनौतियों के साझा समाधान ढूंड सकें। नेटवर्क में शामिल सभी शिक्षक शिक्षा क्षेत्र में मौजूद संकट को अच्छी तरह समझते हैं और एक दूसरे की सहायता कर शिक्षा क्षेत्र में मौजूदा अवरोधों को हटाने की कोशिश कर रहे हैं।
    राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद् के साथ मिलकर स्टर एजुकेशन ने एक मॉडल तैयार किया है जो शिक्षक को अपने शिक्षण कौशल में नए बदलाव करने, सूक्ष्म नवाचारों की मदद से अपनी कक्षाओं में बच्चों को पढ़ाने से संबंधित विचार और न्याय पंचायत स्तर पर सामूहिक रूप से शिक्षण में आ रही चुनौतियों का साझा समाधान के साथ साथ एक दुसरे से सिखने और साझा करने के लिए “टीचर चेंजमेकर नेटवर्क” नामक शिक्षकों का समूह बनाकर कार्य कर रही है। इसका उद्देश्य न केवल बचों का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित करना है बल्कि शिक्षकों को प्रेरित करना है। आज यह कार्यक्रम उत्तर प्रदेश के 7 जिलों में चल रही है जिसमे  फैज़ाबाद, उन्नाव, कानपूर नगर, वाराणसी, जौनपुर, रायबरेली  और लखनऊ शामिल हैं।

    स्टर एजुकेशन का उद्देश्य अधिक से अधिक शिक्षकों को समाज के भविष्य को आकार देने में उनकी अहम भूमिका के बारे में नए ढंग से सोचने के लिए प्रेरित करना और “बदलाव मुमकिन है”, इसका वास्तविक उदाहरण प्रस्तुत करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

     Admin and Owner
    S.M.Masoom
    Cont:9452060283
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    0 comments:

    एक टिप्पणी भेजें

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: 345 शिक्षकों को सम्मानित किया गया Rating: 5 Reviewed By: Unknown
    Scroll to Top