728x90 AdSpace


  • Latest

    शनिवार, 12 मार्च 2011

    अजब जौनपुर कि गजब कहानी

    इस बार अपने वतन जौनपुर जाने मैं एक साल हो चुका था. जौनपुर पहुंचा ,एक दिन अर्रम किया और निकला अपने वतन कि सड़कों, बाज़ारों कि सैर करने. इस बार जो शहर गया, चाहे सब्जी मंदी हो, कोतवाली, ओलन्दगंज या कचहरी सभी जगह एक अजीब नज़ारा देखा. सड़कों के बीच मैं रिक्शा , ताज़ी, साईकिल , ठेले वाले, सब्जी वाले और यहाँ तक कि सांड और गौ भी खड़ी मिली.


    मैंने पुछा एक सज्जन से भाई यह माजरा क्या है कहने लगे यही तो है यहाँ का रोड डिवाईडर. हमने कहा धन्य हैं जौनपुर नगरपालिका वाले , लेकिन बाद मैं देखा जहाँ जहाँ रिक्शा वाले अधिक थे वहाँ इस से फायदा  भी हुआ अब वो ट्राफिक जम नहीं हो रहा.

    चलो यह भी ठीक ही है. अभी जौनपुर कि तरक्की मैं बहुत वर्ष लगने बाकी हैं.
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    2 comments:

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: अजब जौनपुर कि गजब कहानी Rating: 5 Reviewed By: S.M.Masoom
    Scroll to Top