728x90 AdSpace


  • Latest

    गुरुवार, 10 अप्रैल 2014

    वाराणसी लोकसभा चुनाव में आया एक नया मोड़ |

    चर्चित विधायक मुख्तार अंसारी वाराणसी संसदीय सीट से चुनाव नहीं लड़ेंगे। सांप्रदायिक ताकतों को हराने के लिए इसे कुर्बानी की संज्ञा देते हुए गुरुवार को कौमी एकता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद अफजाल अंसारी ने कहा कि 17 अप्रैल के बाद तय होगा कि किस प्रत्याशी का समर्थन किया जाए। कौमी एकता दल के मंडल प्रभारी मो.सलीम के छावनी क्षेत्र स्थित आवास पर मीडिया से मुखातिब अफजाल अंसारी ने कहा कि 2009 में एक लाख 87 हजार वोट पाकर हम भाजपा के दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी से कुछ हजार वोट से ही हारे थे।


     इसके बावजूद इस चुनाव में मुख्तार को न लड़वाकर हम कुर्बानी दे रहे हैं। दूसरी पार्टियों से हमने कई बार कहा कि नरेंद्र मोदी को हराने के लिए एक साझा उम्मीदवार खड़ा करें लेकिन अफसोस कि ऐसा नहीं हुआ। अफजाल अंसारी ने आरोप लगाया कि इससे साबित होता है कि कहीं न कहीं कुछ गैर भाजपाई दल भी नरेंद्र मोदी को चुनाव जितवाना चाहते हैं। बहरहाल 17 अप्रैल के बाद कार्यकारिणी की बैठक होगी। इसमें निर्णय लिया जाएगा कि नरेंद्र मोदी को हराने वाले किस प्रत्याशी का समर्थन किया जाए।
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    0 comments:

    एक टिप्पणी भेजें

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: वाराणसी लोकसभा चुनाव में आया एक नया मोड़ | Rating: 5 Reviewed By: एस एम् मासूम
    Scroll to Top