728x90 AdSpace


  • Latest

    सोमवार, 31 मार्च 2014

    जौनपुर में लोकसभा चुनाव के हर दिन बदल रहे हैं नतीजे और बन रहे हैं नए समीकरण |

    वैसे तो लोकसभा चुनाव में लोग वोट प्रत्याशी देख के कम और पार्टी देख के अधिक दिया करते हैं लेकिन जौनपुर में जब जब लोकसभा चुनाव हुए है यहाँ की जनता ने नतीजा अधिकतर उल्टा ही दिया है और इसका कारण इतना है की यहाँ लोकसभा चुनाव में लोकल मुद्दे देश के अहम् मुद्दों पे हावी रहते हैं |


    इस बार भी कुछ ऐसा ही देखा जा रहा है इसलिए जनता के फैसले हर दिन यहाँ बदलते रहते हैं | जब कांग्रेस प्रत्याशी का ऐलान हुआ तो यहाँ की जनता को लगा की रवि किशन क्या उनकी समस्याओं का हल करेंगे ? जीत के चले जायेंगे और नतीजा यह हुआ की  उनके नाम के एलान के साथ साथ उनके पुतले फूंके जाने लगे | जनता के दिलों पे इस समय नदीम जावेद राज कर रहे थे ऐसे में वे रवि किशन को पचा नहीं पा रहे थे |


    उधर बीजीपी का भी वही हाल हुआ की जैसे ही प्रत्याशी के नमो का एलान हुआ लोगों की लगा यह कहाँ से आ गए और विरोध शुरू हो गया | घोसी, सीतापुर, मछलीशहर, चंदौली, देवरिया, जौनपुर व अंबेडकरनगर जैसे क्षेत्रों में घोषित प्रत्याशियों का स्थानीय स्तर पर हो रहा विरोध न थमने से नेतृत्व गंभीर है। अब ऐसे में लग रहा है की कुछ नामों में बदलाव आयेंगे | इस विरोध और बदलाव की आशा ने लोगों का ध्यान बीजीपी की तरफ से हटा दिया है जिसका फायदा रविकिशन जी अपनी महफ़िल अपने साथ नदीम जावेद को भी बुला के जमाने में कामयाब दिखाई दे रहे हैं और खुश भी हैं |


    फिर भी बीजीपी और कांग्रेस की तरफ से लोकल मुद्दों पे काम करने वाले की कमी का पूरा फायदा उठा रहे हैं सपा से निष्काषित आप पार्टी के  उम्मीदवार के पी यादव जी जिनकी हवा अभी तक बनी हुयी है और इसका कारण उनका लोकल जुद्दों से जुदा होना और उनपे काम करना है | इधर खबर मिली की धनंजय सिंह की वापसी हो सकती है जेल से छूटने के बाद और यदि ऐसा हो जाता तो शायद के पी यादव को और अधिक ताक़त लगानी पड़ जाती |

    भाजपा की सीट के लिए अभी भी लोग अपनी अपनी ताक़त का इस्तेमाल करने में लगे हैं | चिम्यानंद जी का कहना है की जनता ने आदेश दिया तो अवश्य लडूंगा जबकि उन्हें इतेज़ार है भाजपा के नेतृत्व के फैसले का |




    भाजपा के बरिष्ठ नेता स्वामी चिन्मयानंद आज से जौनपुर शीतला चौकियां दरबार में अनुष्ठान शुरू कर दिया है। उनका कहना है कि मै आज से यहाँ पर इस उद्देश्य के साथ अनुष्ठान करने जा रहा हूँ कि इस क्षेत्र के विकास के लिए एक अच्छा प्रत्यासी मिले जो सरकार में हिस्सेदारी करते हुए इस जनपद का विकास कर सके।उन्होंने खुलकर कहा कि कांग्रेस और भाजपा ने जो प्रत्यासी उतारा है उनकी हिस्सेदारी सरकार में नही हो सकती है।
    देखिये जनता क्या क्या कह रही है जौनपुर की ? इसे देख के ऐसा ही लगता है इस बार भी लोकल मुद्दे देश के मुद्दों पे हावी रहेंगे | जौनपुर में और धर्म जाति के मुद्दों से अधिक कृषि, बिजली, पानी , आवास और रोज़गार के मुद्दे लोगों को उठाने वाले का अधिक भला होगा  |








    देखिये जौनपुर में लोकसभा चुनाव २०१४ किसी त्यौहार की तरह  मनाया जा रहा है जिसमे जिले के भविष्य की  चिंता के साथ साथ अपना हित देखते भी लोग देखे जा सकते हैं |














    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    0 comments:

    एक टिप्पणी भेजें

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: जौनपुर में लोकसभा चुनाव के हर दिन बदल रहे हैं नतीजे और बन रहे हैं नए समीकरण | Rating: 5 Reviewed By: एस एम् मासूम
    Scroll to Top