728x90 AdSpace


  • Latest

    रविवार, 30 मार्च 2014

    देवी उपासना का पर्व बासंतिक नवरात्रि चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा का शुभारम्भ सोमवार से|

    सनातन धर्मावलम्बियों का अति महत्वपूर्ण देवी उपासना का पर्व बासंतिक नवरात्रि चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा का शुभारम्भ सोमवार से हो रहा है जिसके दौरान उपयोग में लायी जाने वाली पूजा सामग्रियों की दुकानें जगह-जगह सज गयी हैं। देखा जा रहा है कि जनपद की हर छोटी-बड़ी बाजारों में लगने वाली दुकानों पर लाल चुनरी सहित धूप, बत्ती, अगरबत्ती, कपूर, नारियल, माला, रोली सहित अन्य सम्बन्धित सामग्रियां लगी हुई हैं। वहीं सोमवार से शुरू होने वाले नवरात्रि के मद्देनजर लोगों द्वारा खरीददारी भी तेज हो गयी है। इसी क्रम में घर, प्रतिष्ठान आदि पर कलश रखने के लिये लोगों द्वारा कलश, दिया, ढकी, रूई, जौ सहित अन्य सम्बन्धित सामग्रियों की खरीददारी की जा रह है।


    हिन्दू धर्म में मान्यता है कि नवरात्रि का पर्व आदिशक्ति जगतजननी जगदम्बा का दिन है। 9 दिन भगवती अपने विविध नौ स्वरूपों में पूजा स्वीकारती हैं। श्रद्धालु एवं धर्मावलम्बी पूर्ण आस्था व विश्वास के साथ नौ दिन भगवती का सविधि पूजन-अर्चन करते हैं जिसके चलते लोग नौ दिन का व्रत भी रखते हैं जबकि कुछ तो पहले व अंतिम दिन व्रत रहते हैं। अंतिम दिन 9 कन्याओं को भोजन कराने के साथ ही उनकी विधि-विधान से पूजा की जाती है और सामथ्र्य के अनुसार दान-पुण्य भी किया जाता है। वहीं जगह-जगह जगराता का आयोजन होता है जहां देवी गीतों से माहौल को देवीमय बना दिया जाता है। नवरात्रि के मद्देनजर पूर्वांचल की शक्तिपीठ मां शीतला चैकियां धाम, मैहर देवी मंदिर परमानतपुर, विंध्यवासिनी मंदिर ताड़तला सहित जनपद की अन्य देवी मंदिरों की साफ-सफाई एवं रंग-रोगन किया जा रहा है तथा फूल-मालाओं सहित विद्युत झालरों से सजाने का भी काम काफी तेजी से कराया जा रहा है।
    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    0 comments:

    एक टिप्पणी भेजें

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: देवी उपासना का पर्व बासंतिक नवरात्रि चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा का शुभारम्भ सोमवार से| Rating: 5 Reviewed By: एस एम् मासूम
    Scroll to Top