• Latest

    मंगलवार, 14 फ़रवरी 2017

    बनवारी लाल के साथ एक दिन शाही पुल के मंदिरों की सैर |

    जनाब बनवारी लाल जी जौनपुर के माने  जाने लोगों में गिने जाते  हैं |  श्री बनवारी लाल जी जौनपुर जिले के व्यापार मंडल में मुख्या पद पे भी  हैं | जौनपुर से श्री बनवारी लाला जी के घराने का रिश्ता करीब १७० साल पुराना है और इनके परिवार का पेशा १२५ सालों से जौनपुर के मशहूर चमेली के तेल, गुलकंद के उत्पादन से जुड़ा हुआ है |
    इनके दादा ओर परदादा स्वर्गीय महावीर प्रसाद ओर स्वर्गीय अंतु राम जी ने १८९५ में चमेली के तेल का उत्पादन ओर व्यापार शुरू किया जो आज भी चल रहा है | आज भी इनका बनाया चमेली का तेल देश विदेश  तक जाता है |

    मैंने श्री बनवारी लाल जी से मुलाक़ात का समय लिया ओर जा पहुंचा उनकी ओलन्दगंज नखास स्थित दूकान पे | उनके साथ बात चीत करते हुए हम जा पहुंचे  शाही पुल के नीचे गोमती किनारे जहां जाते ही ऐसा लगा जैसे किसी स्वर्ग में आ गए हो | एक तरफ जहां शार्की राजाओं का बनवाया शाही पुल शान से खड़ा था वंही दूसरी ओर उसी से जुड़ा हनुमान ओर शिव मंदिर जौनपुर के सांप्रदायिक सौहाद्र की कहानी कह रहा था |





    बनवारी लाल जी एक हंसमुख और सुलझे मिज़ाज के इंसान हैं | समाज सेवा इनका धर्म है |  आपभी बनवारी लाला जी से बात चीत के अंश सुनें और जानें कि जौनपुर का मशहूर चमेली का तेल कैसे बनाया जाता है और आज भी यह कहाँ मिल सकता है?

    • Blogger Comments
    • Facebook Comments

    2 comments:

    हमारा जौनपुर में आपके सुझाव का स्वागत है | सुझाव दे के अपने वतन जौनपुर को विश्वपटल पे उसका सही स्थान दिलाने में हमारी मदद करें |
    संचालक
    एस एम् मासूम

    Item Reviewed: बनवारी लाल के साथ एक दिन शाही पुल के मंदिरों की सैर | Rating: 5 Reviewed By: S.M Masum
    Scroll to Top